stone in body symptoms and treatmment in hindi

घर पर ही पथरी का पता लगाए और ऐसे इलाज करे |

in Hindi by

पथरी जिसे किडनी स्टोन भी कहा जाता हैं आज के दौर की सबसे कामन समस्यां हैं. पानी की कमी, गलत खान पान, अस्त व्यस्त लाइफ स्टाइल कुछ ऐसी वजहें हैं जिनके चलते किडनी में पथरी की समस्यां हो जाती हैं. यदि पथरी छोटी हो तो इलाज से ही निकल जाती हैं लेकिन यह आकार में बड़ी हो तो फिर ऑपरेशन की नौबत आ जाती हैं. पथरी होने से किडनी के डेमेज होने का खतरा भी बड़ जाता हैं. इसलिए जितना जल्दी हो सके इसका इलाज शुरू कर देना चाहिए.

कई बार आपके शरीर में पथरी के लक्षण पहले से ही दिखाई देने लगते हैं. लेकिन लोगो को इस बारे में जानकारी नहीं होती हैं और फिर जब पथरी बहुत बड़ी हो जाती हैं तब जाकर उन्हें इसका पता चलता हैं. आपके साथ भी ऐसा ना हो इसलिए हम आज आपको पथरी होने के कुछ ऐसे लक्षण बताएंगे जिनसे आप इस बिमारी के बड़े होने से पहले ही अंदेशा लगा पाएंगे और सही समय पर इसका इलाज करा पाएंगे.

पथरी होने के लक्षण (Stone In Body Symptoms In Hindi)

पेशाब में दिक्कत

यदि पेशाब करते समय आपको दर्द होता हैं या किसी प्रकार की जलन होती हैं तो ये पथरी होने का संकेत हो सकता हैं.

कमर दर्द

पथरी का दर्द आम कमर दर्द से हट के होता हैं. ये अधिकतर कमर के नीचले हिस्से में होता हैं और इसमें एक चुभन का एहसास होता हैं. यह दर्द काफी भयानक हो सकता हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि कुछ मामलो में पथरी में होने वाला दर्द महिला के लेबर पेन से भी ज्यादा होता हैं.

पेशाब में खून

कई बार पथरी आकार में बड़ी होती हैं और जब ये यूरिन के जरिए बाहर निकलने की कोशिश करती हैं तो आपके अंगो को डेमेज कर देती हैं जिसकी वजह से पेशाब में खून आने लगता हैं. यदि आपको इस तरह के लक्षण दिखते हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए.

पेशाब में गंध

जिन लोगो को पथरी होती हैं उनके यूरिन में खतरनाक बदबू आती हैं.

बैठने में दिक्कत

जब किसी को पथरी होती हैं तो उसे एक जगह बिना हीले धुले बैठने में दिक्कत होती हैं. इसकी वजह कमर में होने वाला दर्द होता हैं जो पीड़ित व्यक्ति को सीधा नहीं बैठने देता हैं.

बुखार और ठण्ड

कुछ मामलो में मरीज को बार बार ठण्ड लगती हैं और फिर बुखार भी आ जाता हैं. ऐसे संकेत पथरी होने के हो सकते हैं.

यदि आपको इनमे से कोई भी संकेत दिखाई देते हैं तो रिस्क ना ले और सीधा डॉक्टर के पास जाकर अपना शक दूर कर ले. एक बात हमेशा याद रखना पथरी का इलाज जितना जल्दी हो उतना ही अच्छा होता हैं. आगे जानिए पथरी का इलाज.

पथरी का इलाज (Stone In Body Treatment In Hindi)

आयुर्वेदिक इलाज :- 

सबसे पहले कुछ परहेज ! मित्रो जिसको भी शरीर मे पथरी है वो चुना कभी ना खाएं ! (काफी लोग पान मे डाल कर खा जाते हैं ) क्योंकि पथरी होने का मुख्य कारण आपके शरीर मे अधिक मात्रा मे कैलशियम का होना है | मतलब जिनके शरीर मे पथरी हुई है उनके शरीर मे जरुरत से अधिक मात्रा मे कैलशियम है लेकिन वो शरीर मे पच नहीं रहा है वो अलग बात हे|

इसलिए आप चुना खाना बंद कर दीजिए.  पखानबेद नाम का एक पौधा होता है ! उसे पथरचट भी कुछ लोग बोलते है ! उसके 10 पत्तों को 1 से डेड गिलास पानी मे उबाल कर काढ़ा बना ले ! मात्र 7 से 15 दिन मे पूरी पथरी खत्म !! और कई बार तो इससे भी जल्दी खत्म हो जाती !!! आप दिन मे 3 बार पत्ते 3 पत्ते सीधे भी खा सकते हैं !

होमियोपेथी इलाज :-

अब होमियोपेथी मे एक दवा है ! वो आपको किसी भी होमियोपेथी के दुकान पर मिलेगी उसका नाम हे BERBERIS VULGARIS ये दवा के आगे लिखना है MOTHER TINCHER ! ये उसकी पोटेंसी हे| वो दुकान वाला समझ जायेगा|

यह दवा होमियोपेथी की दुकान से ले आइये| (स्वदेशी कंपनी SBL की बढ़िया असर करती है).  (ये BERBERIS VULGARIS दवा भी पथरचट नाम के पोधे से बनी है बस फर्क इतना है ये dilutions form मे हैं पथरचट पोधे का botanical name BERBERIS VULGARIS ही है )

अब इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई (1/ 4) कप गुण गुने पानी मे मिलाकर दिन मे चार बार (सुबह,दोपहर,शाम और रात) लेना है | चार बार अधिक से अधिक और कमसे कम तीन बार|इसको लगातार एक से डेढ़ महीने तक लेना है कभी कभी दो महीने भी लग जाते है |

इससे जीतने भी stone है ,कही भी हो गोलब्लेडर gall bladder )मे हो या फिर किडनी मे हो,या युनिद्रा के आसपास हो,या फिर मुत्रपिंड मे हो| वो सभी स्टोन को पिगलाकर ये निकाल देता हे|

99% केस मे डेढ़ से दो महीने मे ही सब टूट कर निकाल देता हे कभी कभी हो सकता हे तीन महीने भी हो सकता हे लेना पड़े|तो आप दो महीने बाद सोनोग्राफी करवा लीजिए आपको पता चल जायेगा कितना टूट गया है कितना रह गया है | अगर रह गया हहै तो थोड़े दिन और ले लीजिए|यह दवा का साइड इफेक्ट नहीं है |

और यही दवा से पित की पथरी (gallbladder stones ) भी ठीक हो जाती है ! जिसे आधुनिक डाक्टर पित का कैंसर बोल देते हैं ! ये तो हुआ जब stone टूट के निकल गया अब दोबारा भविष्य मे यह ना बने उसके लिए क्या??? क्योंकि कई लोगो को बार बार पथरी होती है |एक बार stone टूट के निकल गया अब कभी दोबारा नहीं आना चाहिए इसके लिए क्या ???

इसके लिए एक और होमियोपेथी मे दवा है CHINA 1000| प्रवाही स्वरुप की इस दवा के एक ही दिन सुबह-दोपहर-शाम मे दो-दो बूंद सीधे जीभ पर डाल दीजिए|सिर्फ एक ही दिन मे तीन बार ले लीजिए फिर भविष्य मे कभी भी स्टोन नहीं बनेगा| और एक बात इस BERBERIS VULGARIS से पीलिया jaundice भी ठीक होता है ! आपने पूरी post पढ़ी बहुत बहुत धन्यवाद !!

Facebook Comments